ESIC (Employees’ State Insurance Corporation) योजना के तहत मातृत्व लाभ के रूप में अब 7500 रुपये दिए जाएंगे

 ESIC (Employees’ State Insurance Corporation)  योजना के तहत मातृत्व लाभ के रूप में अब 7500 रुपये दिए जाएंगे
  • मातृत्व खर्च को 5,000 रुपये से बढ़ाकर 7,500 रुपये कर दिया गया है
  • ESIC में employees और employers का दोनों का योगदान होता है

ESIC स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत सरकार ने मातृत्व खर्च को 5,000 रुपये से बढ़ाकर 7,500 रुपये कर दिया है। मातृत्व खर्च या लाभ वे हैं जो एक insured महिला या insured व्यक्ति को उसकी पत्नी के लिए बच्चे के जन्म के मामले में ESIC स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत भुगतान किए जाते हैं।

नियम क्या कहता है?

सरकार ने कर्मचारी Employees State Insurance (Central) Rules 1950 के Rule 56A को 5,000 रुपये से बदलकर 7,500 कर दिया है। यह लाभ उस स्थिति में उपलब्ध होता है जब ESI योजना के तहत आवश्यक चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध नहीं होती हैं।  मातृत्व लागत केवल 2 डिलीवरी तक सीमित है। 7,500 रुपये आपको एक साथ नहीं मिलेंगे ऐ लाभ आपको installment में डिलीवरी के समय मर्यादा में दिया जाता है| और ऐ पैसे सीधे आपके दिए गए बैंक अकाउंट में जमा होता हे|

ESIC में योगदान?

ESIC में कर्मचारी और नियोक्ता दोनों का योगदान होता है। वर्तमान में, कर्मचारी के वेतन का 0.75% ESIC और नियोक्ता से 3.25% का योगदान है।  137 रुपये के औसत दैनिक वेतन वाले कर्मचारियों को योगदान करने की आवश्यकता नहीं है।

किसको फायदा?

ESIC का लाभ 21,000 रुपये या उससे कम मासिक आय (Monthly Income) वाले लोगों को मिलेगा। हालांकि, विकलांगता की स्थिति में, आय सीमा 25000 रुपये है। इसका मतलब है कि यदि आप विकलांग हैं और आपकी मासिक आय (Monthly Income) 25,000 रुपये या उससे कम है तो आप इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं|

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *