Sweta ki love story in hindi । श्वेता की प्रेम कहानी

 Sweta ki love story in hindi । श्वेता की प्रेम कहानी

नमस्कार दोस्तों, आप सभी का दिल से हार्दिक स्वागत है इस नये ब्लॉग मैं| आज में यहाँ आपके लिए बहुत ही बढ़िया hindi love story और kahani लेके आया हु इसमें आप sweta ki love story in hindi, ajab prem ki ghazab kahani, hindi kahani, romantic story in hindi, romantic love story in hindi, most romantic love story in hindi, short love story in hindi जैसी hindi kahani पढ सकते हो |

sweta ki love story in hindi

जब हमें किसी शादी में जाना होता है, तो यह स्वाभाविक है कि हम तैयार होकर चले जाते हैं, और जब हम छोटे होते हैं, तो हम अपने दोस्तों की संगति में दिन भर शादी का आनंद लेते हैं। मैंने उसे पहली बार एक शादी में देखा था जब मैं कॉलेज के दूसरे वर्ष में था। उसे देखतेही वो मुझे पसंद आगई थी… यह वास्तव में बहुत सुंदर थी। इसलिए ही मुझे यह पसंद आयी! शादी के दौरान, मैं उसे देखता रहा। मेरे व्यवहार पर ध्यान देने के बाद उसने भी मेरी तरफ देखा। और जितना अधिक उसने मुझे देखा, उतना ही मैं उसे ज्यादा पसंद करता करने लगा। अजनबी वो लड़की अचानकसे मुझे अपनी लग रही थी।

हम देव आनंद जैसे रोमांटिक इंसान हैं इसलिए मुझे यह इतनी जल्दी पसंद आयी कि मैंने उसके साथ अपने भविष्य के सपने देखना शुरू कर दिया। मैं सच में उनके विचारों में डूबा हुआ था। मुझे बस इतना तो पता था कि वो लड़की हमारे साथ बारात में तो नहीं आई। तो यह बात तो पक्की थी कि जिस गांव में बारात गई थी, उसी गांव की लड़की होगी। या फिर जिस परिवार में शादी थी उसी परिवार के किसी रिश्तेदार में से होगी।

ajab prem ki ghazab kahani

उसी बात को लगभग दो महीने बीत गए, और अचानक एक दिन मैंने उसे बस स्टैंड पर देखा। मौका मिलते ही मैंने अपनी बाइक की स्पीड कम कर दी। साथ ही मैं बाइक को खड़ा रखना चाहता था, लेकिन मेरी हिम्मत नहीं हुई कि मैं ऐसा कर सकूं। लेकिन इससे मुझे अंदाजा हो गया था कि वह इस समय रोज यहां आ रही होगी। तो इसी वजह से मैंने हर रोज यहां से गुजरना चालू कर दिया।

इसे भी पढ़िए  Bhabhi ki love story in hindi | भाभी की प्रेम कहानी

करीब एक हफ्ते बाद मैंने उसे स्माइल देना शुरू किया। ऐसा करते-करते मैं घबरा जाता था। लेकिन मैं भाग्यशाली था कि वह भी मेरे सामने मुस्कुरायी। और उस दिन से मैं उसके ख्यालों में इतना खो गया था कि आज तक उन ख्यालों से निकल नहीं पाया…

इसमें फिर से यह में सोचने लगा की, अब इसे कैसे प्रपोज करें। उस समय मैंने पागल तो ऐसा किया की, रोज सुबह शादी में जाना हो उसी तहर तैयारी होना और, रोज गुलाब खरीदना और उस बस स्टैंड से गुजरना। योजना यह थी कि अगर यह अकेली है तो इसे एक फूल के साथ प्रपोज करु। हालाँकि, वह लंबे समय तक अकेली नहीं थी और हर दिन फूल मेरे साथ मेरे घर वापस आ जाता था। लोगों के लिए 13 का अंक अशुभ हो सकता है, लेकिन मेरे लिए यह अच्छा है। 13वीं बार जब मैंने एक फूल खरीदा था, वह 13 जून, 2021 था। वह हमेशा की तरह बस स्टैंड पर खड़ी थी जब मैं उस दिन बस स्टैंड के पास से गुजरा और आश्चर्यजनक रूप से वह अकेली थी। मैंने हिम्मत से मौके का फायदा उठाया और उसे फूल देकर कहा, “आई लव यू…”

romantic story in hindi । रोमांटिक कहानी

उसने फूल तो ले लिया। लेकिन उन्होंने बस इतना ही कहा, “धन्यवाद …” इसे विशेष कुछ खास नहीं। कुछ देर तक सन्नाटा रहा और फिर हमने कुछ औपचारिक बातचीत की। उस दिन मुझे पता चला कि उसका नाम हे ‘श्वेता…’ वाह क्या नाम है! ऐसा नाम सुनकर मुझे ऐसा लगा। तभी मुझे पता चला कि वह कॉलेज के पहले साल में थी। हालांकि, यह मेरे कॉलेज में नहीं बल्कि दूसरे कॉलेज में थी और वो रोज बस से जाती थी।

इसे भी पढ़िए  Love in the Bus in hindi । चलती बस में हुवा प्यार

फिर उसने एक हाथ से मेरा कॉलर पकड़ लिया और मुझे अपने पास खींच लिया और कहा, “शिवम्, मेरी एक बात पुरे जीवन काल याद रखना, मेरे जीवन का आधा हिस्सा तुम्हारे भीतर धड़क रहा है…” यह सुनकर मैं टूट गया और तब से मैं यही थान लिया की अबसे श्वेता पसंद नहीं ऐसा एक भी काम नहीं करूंगा।

हम दोनों एक दूसरे को पाकर बहुत खुश हैं। जाने हमारे जीवन का स्वर्ण युग चल रहा है। यह दुनिया इस तरह चलती रहती है और हम अपनी दुनिया में मस्त हैं। WhatsApp पर हम हर पल के एक साथ ही होते हैं। भले ही हम अभी डिजिटल रूप से एक साथ हैं, लेकिन हम कुछ दिनों में एक साथ जीवन व्यतीत करेंगे।

हमारी जाति एक है लेकिन उपजाति अलग है। तो घर के बड़ों को थोड़ा समझौता करना पड़ेगा… उन्हें थोड़ा समझाना पड़ेगा और हमें थोड़ी जिद्द भी करनी पड़ेगी। अभी हम अपने जीवन के इन खूबसूरत पलों का बहुत अच्छे तरीके से आनंद ले रहे हैं। हम दोनों को विश्वास है कि हमारे प्यार की जीत होगी।

romantic love story in hindi । रोमांटिक प्रेम कहानी

फिर तो जाने मेरी कॉलेज बदल गयी। एक बार मेरी कॉलेज अटेंडेंस पूरी हो जाने के बाद, मैं सीधे उसके कॉलेज पहुंच जाता। वह भी अपने लेक्चर को बंक करती और फिर हम उसके कॉलेज की कैंटीन में पहुँच जाते हैं।

एक दिन मैंने उनसे पूछा, ‘अगर मैंने तुमसे कहा था कि मैं तुमसे प्यार करता हूँ, तो तुमने मुझे जवाब में कुछ क्यों नहीं बताया…?’

तो उसने कहा, ‘अगर हम किसी से नफरत करते हैं, तो हम उनसे कहते हैं, मैं तुमसे नफरत करता हूँ? सामने वाले व्यक्ति को हमारे व्यवहार से पता चल ही जाता हे की वो मुसजे नफरत करता है। ठीक उसी तरह कहने की जरूरत नहीं है, अगर कोई प्यार में है, जिसे हम प्यार करते हैं उसे पता चलहि जाता है, यह आदमी मुझसे प्यार करता है… यह तो बहुत साधारण सी बात है। उसमे जताने जैसा क्या है? ”

sweta ki romantic love story in hindi

फिर हम कॉलेज, गार्डन, नदी किनारे, बीच, टॉकीज, मॉल, मॉल पार्किंग जैसी सभी जगहों पर एक भी मौका गंवाए बिना मिलते रहे। उन मुलाकातों के दौरान हमारा प्यार बढ़ता गया। एक दिन मैंने श्वेता से कहा, ‘मैं शादी करूंगा तो सिर्फ तुमसे ही करूंगा।’ तो वह मुझसे कहती है, ‘मैं भी तुमसे ही शादी करूंगी। जबसे तुम मुझे मिले हो उसके बाद से मेरी पूरी दुनिया ही बदल गई है।’

इसे भी पढ़िए  Neha Nayan ki love story in hindi | नेहा नयन की प्रेम कहानी

एक बार ऐसा हुआ तो मैंने उसे अपने कॉलेज से फोन किया कि मैं आ रहा हूं। उसे लगा की मुझे वहां पहुंचने में थोड़ा समय लगेगा। लेकिन मैं कुछ ही मिनटों में वहां पहुंच गया। मुझे ऐसा लगा कि वह मुझे देखकर खुश हो जाएगी। लेकिन हुआ उसका उल्टा और वह मुझ पर क्रोधित हो गयी। उसकी आंखों में आंसू आ गए और वह कहने लगी, ‘तुमने कितनी तेजी से बाइक चलाइ थी? क्या इतनी जल्दी थी? मैं कहाँ भागने वाली थी? अगर कोई हादसा होता तो…?’

Conclusion: हेलो दोस्तों आपने इस sweta ki love story in hindi और kahani को पढ़ा होगा उम्मीद करता हु आपको ये ajab prem ki ghazab kahani पसंद आयी होगी, आपको ये hindi love story और romantic story in hindi कैसी लगी उसे comment के जरिये हमें जरूर बताये| धन्यवाद, आपका दिन मंगलमय हो।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.